Home Blog Page 3

Sad 31 December Shayari

3

Suno december usko pukaro
Suno december usse mila do

Ab esse pehle ke saal gujar jaye
Ab esse pehle ke jaan nikal jaye

Wahi sitara meri lakeero me kaid kar do
Es akhri shab k aakhri pal koi bda ikhtitam krdo

Ye zindagi bhii tamaam kar do….
Suno december ab usko bula do..

Udaasiya dekar jo sitamgar gujar gaya,
Ab tum b bs karo k december gujar gaya

Dard-E-Tanhai Shayari on Narazgi

5

किसी से नाराज़गी रखना गलत बात है
मगर ज़रा सोचो ये भी तो एक जज़्बात है

ज़िन्दगी के बारे में बस इतना जान लो तुम
ख़्वाबों से हक़ीक़त की यह मुलाकात है

किसी शायर की आँखों में देखो तो पता चले
तन्हा तन्हा ये दिन, तन्हा तन्हा ये रात है।

Bematlab Ki Chahat Shayari

2

Bematlab Ki Chahat Shayari

दर्द भी वही और राहत भी वही,
मेरी मुश्किलें और, बुरी आदत भी वही
उसे भूलना हर सहर मक़सद है मेरा
हर सुबह फ़िर बेमतलब सी चाहत भी वही

Pyar Bhari Umeed Shayari

2

Pyar Bhari Umeed Shayari with Sad Girl Image

 

सालो बाद उनसे मिलने का समां केसा होगा,
मैं याद भी हूँ उसे या वो भूल चूका होगा,
इस जनम ना सही, मिलेंगे फिर किसी जनम में
जैसे गुल से गुल मिले हो एक प्यार भरे चमन में

Saccha Insaan Shayari

1

Sacha Insaan Shayari

ये जरुरी नहीं की इंसान दिखने में अच्छा हो
बहुत ही ख़ूबसूरत और सुन्दर हो
कमाई में ज्यादा और नामी हो
असल में वही इंसान अच्छा होता हैं
जो जरुरत पड़ने पे सदा आपके साथ हो

रात का चाँद गुड नाईट कहने आया है

1

गुड नाईट शायरी

रात का चाँद आसमान में निकल आया है.
साथ में तारों की बारात लाया है.
ज़रा आसमान की और देखो वो आपको
मेरी और से गुड नाईट कहने आया है.

Happy Holi Shayari in Hindi

0

Happy Holi Shayari in Hindi Fonts

राधे के रंग और कन्हैया की पिचकारी
प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी
ये रंग न जाने कोई मजहब ना बोली
मुबारक हो आपको खुशियों भरी होली

होली मुबारक हो

Haal E Dil Ki Shero Shayari on Ikraar E Mohabbat

0

Haal E Dil Ki Shero Shayari on Ikraar E Mohabbat

उनकी खामोश नज़रो ने उनका हाल ए दिल बयां कर दिया,
रुके हुए अल्फाज़ो को हमने उनकी मुस्कराहट में पड़ लिया
शरमा गए वो इस कदर अपनी इकरार ए मोहब्बत में,
लगकर सीने से मेरे उन्होंने अपना जहां मेरे नाम कर दिया !!

दिल से चाहा नहीं, एक तरफ़ा प्यार शायरी

2

एक तरफ़ा प्यार दुःख भरी शायरी

एक शख्स पास रह के समझा नहीं मुझे,
इस बात का मलाल है शिकवा नहीं मुझे,
मैं उस को बेवफाई का इलज़ाम कैसे दू
उसने तो दिल से ही चाहा नहीं मुझे !

लबों से दिल की बात

1

लबों से दिल की बात शायरी

अदा लबों से दिल की बात हो जाने दो,
कबूल आज दिल की इबादत हो जाने दो,
तनहा चल रहे हो दश्त ए जीस्त में
दो पल मुझको जरा साथ हो जाने दो !