0

Welcome 2016 नव वर्ष कविता in Hindi

स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा,
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा,

देकर नवल प्रभात विश्व को,
हरो त्रस्त जगत का अंधियारा

हर मन को दो तुम नई आशा
बोलें लोग प्रेम की भाषा,

समझें जीवन की सच्चाई,
पाटें सब कटुता की खाई,

जन-जन में सद्भाव जगे,
औ घर-घर में फैले उजियारा !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *