0

Short Nav Varsh Mubarak Kavita | Welcome 2016 Sms

सुनहरे सपनों की झंकार, लाया है नववर्ष
खुशियों के अनमोल उपहार लाया है नववर्ष

आपकी राहों में फूलों को बिखराकर लाया है नववर्ष
महकी हुई बहारों की ख़ुशबू लाया है नववर्ष

अपने साथ नयेपन का तूफान लाया है नववर्ष
स्नेह और आत्मीयता से आया है नववर्ष

सबके दिलों पर छाया है नववर्ष
आपको मुबारक हो दिल की गराईयों से नववर्ष। :)

0

Heart Touching Lines on 31st December | Last Day of 2015

जिन्दगी का एक ओर वर्ष कम हो चला,
कुछ पुरानी यादें पीछे छोड़ चला..

कुछ ख्वाईशैं दिल मे रह जाती हैं..
कुछ बिन मांगे मिल जाती हैं ..

कुछ छोड़ कर चले गये..
कुछ नये जुड़ेंगे इस सफर मे ..

कुछ मुझसे बहुत खफा हैं..
कुछ मुझसे बहुत खुश हैं..

कुछ मुझे मिल के भूल गये..
कुछ मुझे आज भी याद करते हैं..

कुछ शायद अनजान हैं..
कुछ बहुत परेशान हैं..

कुछ को मेरा इंतजार हैं ..
कुछ का मुझे इंतजार है..

कुछ सही है
कुछ गलत भी है.

कोई गलती तो माफ कीजिये और
कुछ अच्छा लगे तो याद कीजिये।

Happy Last Day of The Year 2015 :)

0

Beautiful Shayri for New Year 2016 Advance Wishes

आपके सारे गम खुशियों में तोल दूँ,
अपने सारे राज़ आपके सामने खोल दूँ
कोई मुझसे पहले न बोल दे,
इसलिए सोचा क्यों न आज ही,
आपको हैप्पी न्यू इयर बोल दूँ!..!!!!

हैप्पी न्यू इयर 2016

1

2 Line New Year Shayari for Whatsapp Status

नव वर्ष की पावन बेला में, है यही शुभ सन्देश,
हर दिन आये आप के जीवन में, लेकर खुशियाँ विशेष!

नव वर्ष 2016 की हार्दिक शुभकामनायें :)

0

Long New Year Dua Shayari 2016 for Someone Special

Koi haar gaya, koyi jeet gaya,
2015 ka saal bhi akhir beet gaya,

Kabhi sapne sajaay ankhon mein,
Kabhi beet gaye paal baton mein,

Kuchh sunahare paal bhi the,
Kuchh haadse aur jazbaat bhi the,

Kuchh berukhi kuchh bechaini,
Kuchh mann mein simti veerani,

Kuchh lamhe the yaadgaar bahut,
Kuchh lamho ko kiya barbaad bahut

Par ab ke baras 2016 mein,
Mujhe bhagwan se dua ye mangne do

Koi pal na aap ka udaass guzre,
Koi rog na aap ko raas guzre,

Aap phulon ki tarah khile rahe,
Aap khush rahe, aabaad rahe,

Aap jo chahe, wo ho jaaye,
Aap jo mangey, wo mill jaye…!!!!

0

Welcome 2016 Sms Poem on New Year in Hindi

स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा,
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा,

देकर नवल प्रभात विश्व को,
हरो त्रस्त जगत का अंधियारा

हर मन को दो तुम नई आशा
बोलें लोग प्रेम की भाषा,

समझें जीवन की सच्चाई,
पाटें सब कटुता की खाई,

जन-जन में सद्भाव जगे,
औ घर-घर में फैले उजियारा !